How To Control Your Anger

0
242

तो आ गए आप, कैसे हो?

images (49).jpeg

दोस्तो यह बात सच है कि गुस्सा यानि क्रोध एक प्राकृतिक और सामान्य भावना है और यह व्यक्ति की बुनियादी भावनाओं में से एक है। लेकिन यदि ये हद से पर जाए तो परेशानी का सबब बन जाती है।

असल मे यह व्यक्ति की एक शारीरिक प्रतिक्रिया है। अगर ये कहें कि गुस्सा व्यक्ति की खुशी और गम की तरह ही एक भावना है तो गलत नहीं होगा, लेकिन कभी – कभी किसी का गुस्सा इस हद तक बढ़ जाता है कि वह खुद की जिंदगी और दूसरों की खुशियों पर असर डालने लगता है। ये बेहद हानिकारक हो सकता है

हद तो तब होती है जब बहुत से लोग ऐसे भी होते है की जिन्हें गुस्सा तो आता है मगर यह मानने को तैयार नहीं होते की वह गुस्सैल स्वभाव के है जबकि सच यह होता है कि जब उन्हें गुस्सा आता है तो वह Out Of Control हो जाते है। ऐसे में वह जिन्हें प्यार करते है उन्हीं को नुकसान पहुचाने लगते है क्युकी वो अपने गुस्से में पगला रहे होते हैं।😜 बहुत कम लोग ही ऐसे होते है जो यह मानने को तैयार होते है कि उनका स्वभाव गुस्सैल है।
तो दोस्तो आज मैं आपको यही बताना चाहूंगा कि आप कैसे अपने गुस्से को पहचाने ओर उससे छुटकारा पाए।
कैसे पहचाने अपने गुस्से को:-

दोस्तो ज़िन्दगी में कई उतार चढ़ाव आते है जीवन केवल खुशियों का नाम नहीं है, इसमें खुशियों के साथ परेशानियां भी आती – जाती रहती है। ऐसे में कठिन परिस्थितियों में धैर्य बनाये रखने में ही समझदारी है बल्कि मेरी सलाह ये रहेगी कि अपने गुस्से की आंच से अपने रिश्तों को न जलने दे। इस बात का ध्यान रखना आपकी ज़िम्मेदारी है।

खुद को Observe करे , गुस्सा आने के ये लक्षण है।

b881298022z1_20180327165937_000g9e11ci634-0-egwl12v3otl8ra610q2_fct2537x1424x139_ct677x380 (1).jpg

• धैर्य की कमी।
• गाली देना या मारपीट करने।
• सामने वाले को नीचा दिखाने की कोशिश करना।
• चिड़चिड़ाना जाना।
• हर चीज के लिए दुसरे को दोषी ठहराना।
• गुस्सा होने पर किसी काम को करना बंद करना या काम करते वक्त चिल्लाना।
• लोगो का आप से बचने की कोशिश करना।
• पत्नी बच्चों और रिश्तेदारों का आप से बात करने में डर लगना।
• लोगो द्वारा शांत रहने की अपील करना।
etc

इनमे से आप अपने लक्षण पहचान कर लीजिए। लेकिन इन सब के अलावा भी गुस्से के बहुत सारे sings हो सकते है। हमारे आस – पास के लोगो, दोस्तों, रिश्तेदारों या फिर खुद में भी इस तरह के लक्षण हो सकते है पर इनसे किसी भी प्रकार की शर्मिंदगी नहीं होनी चाहिए बल्कि इस समस्या का समाधान ढूढना चाहिए।क्युकी ये बीमारी की तरह है जिसमे मरीज़ को अपनी बीमारी का पता भी नही होता।

तो अगर आपको लगता है कि आप भी छोटी छोटी बात पर तुनक जाते है है।गुस्सा आपके Natute का हिस्सा बन गया है तो उसमें वक्त रहते सुधार करें
नीचे कुछ उपाय दिए है, आप इन्हें अपना सकते है।

गुस्से को काबू में करने के कुछ आसान उपाय:-

 

 

Break तो बनता है:-

अक्सर लोग जब गुस्से में होते है तो अलगाव की स्थिति के चलते कुछ भी कहते है जिससे बात बिगड़ती है तो अगर आप भी गुस्से में बेकाबू हो जाते है तो सबसे जरुरी है ऐसी परिस्थितियों में जब आप को लगे कि गुस्सा बहुत ज्यादा आ रहा है तब आप किसी भी बहस में शामिल न हो क्योंकि हो सकता है कि आप अपना आपा खो दे और ऐसा कुछ कह दें जिससे आपको बाद में पछतावा हो।

इससे बचने के लिए सबसे अच्छा होगा कि आप उस जगह से हट जाए / एक छोटा सा break ले / ठंडा पानी पिए और थोडा टहल ले। इस तरह से जब आप और दूसरा व्यक्ति शांत हो जाएं तब अपनी चर्चा को दुबारा शुरू कर सकते है। ताकि बात सुलझ जाए लेकिन शांत माहौल में।

 
पहचानें गुस्से का कारण:-

अगर आप गुस्से से Deal करना कहते है तो सबसे जरुरी है यह पता लगाना कि किन परिस्थितियों के कारण गुस्से को बढ़ावा मिला है। परिस्थितियों और कारणों को अच्छे से समझे और उसके कारण को मिटाने की कोशिश करे। यह एक दिन का काम नही है लेकिन समय के साथ ये ठीक हो जाएगा।

 
10 तक गिनती गिने:-

ये सुनके आपको Bollywood Movie जैसा Feel आ सकता है। मगर विश्वास करिये ये आपको आराम दिला सकता है। आप को लगे कि आप गुस्से में है तो सबसे पहले कोई प्रतिक्रिया करने के वजाय शान्त हो जाएं और गहरी सांस लें। इससे आपको गुस्से पर Control करने में मदद मिलेगी। ओर गिनती गिनने का Logic ये है कि इसमें आप दूसरी क्रिया में Indulge हो कर गुस्से को भूल जाते हैं।
अछि नींद लें:-

आज काल की ज़िंदगी इतना सारा Work Load होता है कि चैन से बैठना तक असंभव बात है। जिसके कारण सिरदर्द, तनाव और चिड़ाचिड़ाहट होना लाज़मी है। ऐसे में हम बेवजह दूसरों पर चीखते – चिल्लाते है।इसलिए आप अपने व्यस्त दिनचर्या से 7 घंटे का वक्त सोने के लिए जरुर निकले क्योंकि 7 से 8 घंटे की नींद अच्छे स्वास्थ के लिए आवश्यक होता है। क्युकी भैया जो जागत है अपनी बैंड बजवावत है, जो सोवत है असल मे वही पावत है😂

 

 

नियमित व्यायाम है ज़रूरी:-

व्ययाम स्वास्थ रहने के लिए ज़रूरी है। इससे ना केवल तन बल्कि मन भी स्वस्थ रहता है।व्यायाम और विश्राम के साथ अपने गुस्से के स्तर को कम करने की कोशिश करें। कुछ Exercise जैसे Swimming, Morning Walk और योग से गुस्से को कंट्रोल किया जा सकता है। सुबह की ताजी हवा में प्रकृति के साथ कुछ समय रहना, गहरी सांसे लेना आदि भी मन को सुकून देगा और गुस्से पर काबू पाने में बेहद फायदेमंद रहेगा। इसलिए अपने दैनिक जीवन में ध्यान और योग को जरुर शामिल करे। याद रखे कि योग आपकी सभी नसों को खोलता है जिससे Blood Circulation को बढ़ाता है जिससे आपको गुस्सा काम आता है।
वैसे योग के ओर भी कई फायदे है, जो कि आपको यही मिल जायेंगे।

 
विशेषग्यों से ले सलाह:-
यदि ये सब उपाय करने के बाद भी आपको फायदा नही हो रहा है और आपका गुस्सा दिन ब दिन नेताओ के घुटालो की तरह बढ़ता ही जा रहा है, तो देर न करे, जल्दी ही किसी Psychiatrist से सलाह ले। इससे आपको कोई न कोई समाधान ज़रूर मिलेगा।

तो भैया मेरा हो गया बस इत्ता ही था आज, ज़्यादा गुस्सा न करे मेरे दोस्त और एक बात बता दु, की मम्मी की चप्पल से अच्छी कोई Therapy नही होती। सही में मेरा परखा हुआ उपाय है।😂😂

Leave a Reply