Rahul Gandhi promises ‘groundbreaking’ minimum income scheme; 20% families to get Rs 72K annually

0
214

तो आ गए आप, कैसे हो?

images (96).jpeg

दोस्तो एक खबर है जो कि खुद में कुछ कमाल ओर कुछ बवाल है। भैया जल्दी भाग के लपक लो नोट बट रहे है😂 कहाँ ओर कैसे वो जान लीजिए दरअसल लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर कांग्रेस ने आज सबसे बड़ा दांव खेल दिया। राहुल गांधी ने आज एलान किया कि कांग्रेस सरकार आने पर 20 फीसदी गरीबों को हर साल 72 हजार रुपये दिए जाएंगे। राहुल ने कहा कि कांग्रेस ने पहले फेज में 14 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाला था, इस बार 25 करोड़ गरीबों को फायदा पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हर साल 20 फीसदी सबसे गरीब परिवारों को सालाना 72 हजार रुपये बैंक अकाउंट में डाल दिया जाएगा। राहुल ने कहा कि दुनिया में अपनी तरह की यह पहली स्कीम होगी। मैं तो कहुगा की भगवान करे की ये उनके आलू वाली स्कीम जैसी न निकले।😂
वादों को सच करना नही होगा आसान:-

ये वादा निभाना इतना भी आसान नही होगा क्योंकि अगर कांग्रेस सरकार आने पर राहुल गांधी की इस योजना को लाघु किया जाता है तो सरकार पर 3 लाख 60 हजार करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। इसलिए इसे अमलीजामा पहनाना इतना आसान नहीं होगा। हालांकि, राहुल ने ये नहीं बताया कि किस तरह इस योजना को लागू किया जाएगा? सरकारी खजाने पर पड़ने वाले बोझ की किस तरह से भरपाई की जाएगी? 20 % सबसे ज्यादा गरीबों की पहचान होगी कैसे? Press Conference में जब ये सवाल उठे तो उन्होंने बस इतना ही कहा कि आपके सभी सवालों का जवाब 2-3 दिन बाद दूंगा। हो सकता है कि इनके जवाब वो लिखवा कर न लाये हो।😜
क्या BJP के लिए बनेगी ये योजना खतरे की घंटी:-
दोस्त चुनावी माहौल में जूठे वादे बहुत आम बात है। इसे वोटरों को लुभाने की कांग्रेस और राहुल गांधी की सियासी चाल कहें भी तो भाजपा के लिए खतरे की घंटी है। अगर ये चुनावी वादा काम कर गया तो भाजपा का सत्ता वापसी का सपना चकनाचूर हो सकता है। जैसा कि हमको पता है कि 1971 में इंदिरा गांधी ने गरीबी हटाओ का नारा दिया था जो इस कदर चला कि कांग्रेस की सरकार ही बन गई। उस वक्त तमाम दल कांग्रेस और इंदिरा गांधी के खिलाफ लामबंद हो गए थे, लेकिन इंदिरा के इस एक नारे ने सत्ता में कांग्रेस की वापसी करवा दी। कांग्रेस को तब 518 में से 352 सीटों पर जीत मिली थी। तो फिर कही ऐसा हो गया कि फिर ये Loli Pop काम कर गया, तो Congress के जीतने के बड़े Chances रहेंगे।

जैसा कि हम सबने देखा कि हाल ही में मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने भाजपा को करारी शिकस्त दी थी। इन चुनावों में किसानों की कर्जमाफी बड़ा मुद्दा बनकर उभरा था। राहुल ने अपनी हर रैली में वादा किया था कि सरकार बनने के 10 दिन के भीतर ही किसानों की कर्जमाफी की जाएगी। तीनों राज्यों में एक निश्चित कर्ज राशि तक इसका एलान भी किया गया। इससे पहले पंजाब की अमरिंदर सरकार भी किसानों की कर्जमाफी कर चुकी है। अपनी हर चुनावी रैली में राहुल इसी तरह के वादे कर वोटरों को लुभाने की पुरजोर कोशिश कर रहे है क्योंकि सीधी सी बात है उनका ये प्रोयग सफल साबित हो चुका है।😄
Flop हो सकता है BJP का Master Stroke :-
हालांकि आर्थिक मदद का LoliPop नई बात नही है, इससे पहले भाजपा किसानों को 6 हजार रुपये सालाना देने का एलान कर चुकी है। इसे चुनाव के लिए भाजपा का Master Strok माना जा रहा था। लेकिन आज राहुल ने उससे भी बड़ा दांव चलते हुए गरीबी हटाने का वादा किया। यह वादा सहज तौर पर गरीब वोटरों को लुभा सकता है। महंगाई और बेरोजगारी की मार झेल रहे गरीब वर्ग को कांग्रेस का ये वादा अपनी को खींच सकता है। और अगर ऐसा हुआ तो भाजपा को नए सिरे से रणनीति बनानी पड़ेगी। ओर फिर कोई नया जुम्ला Market में लाना पड़ेगा।😁

तो बस भैया इतना है।
खुश रहो और खुश रहने दो।😜
ओर Vote देने ज़रूर जाना।

Leave a Reply