Court tells government to ban this Chinese app: What you need to know

0
245

तो आ गए आप, कैसे हो?

images - 2019-04-05T232919.068.jpeg

दोस्तो आपको जान के बेहद दुख होगा या खुशी भी हो सकती है, अगर आप TikTok का प्रयोग नही कर रहे है तो।😂 मद्रास उच्च न्यायालय ने केंद्र सरकार से कहा है कि वह Chinese App TikTok पर प्रतिबंध लगाए। यह आदेश उच्च न्यायालय की मदुरै पीठ ने जारी किया है। भारत में App के 200 मिलियन से अधिक Download हैं और यह छोटे शहरों में विशेष रूप से लोकप्रिय है। App Download करने के लिए स्वतंत्र है, हालांकि उपयोगकर्ताओं को कुछ इन-ऐप खरीदारी के लिए भुगतान करना पड़ सकता है। यह पहली बार नहीं है जब TikTok विवादों में है। पहले भी कई विशेषज्ञों ने बच्चों और Teen Agers को Target करने की कोशिश में Tiktok का उपयोग करने पर चिंता जताई थी। यहाँ आप सभी को TikTok पर ‘प्रतिबंध’ के बारे में ये जानना चाहिए, की भैया क्या हुआ है ओर कैसे हुआ है।

मद्रास उच्च न्यायालय द्वारा जारी की Directions:-

* सरकार को TikTok App Download करने पर रोक लगाने का निर्देश दिया गया है।

* Media TikTok App का उपयोग करके बनाए गए Video को प्रसारित करने से प्रतिबंधित है।

* सरकार को निर्देश दिए गए है कि भारत में बच्चों को साइबर / ऑनलाइन पीड़ित बनने से रोकने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा लागू Children’s Online Privacy Protection Act, की तरह एक क़ानून बनाए।

क्यों प्रतिबंध लगाया गया:-
इसका उद्देश्य अश्लील साहित्य को प्रोत्साहित करने से रोकना था।
मद्रास उच्च न्यायालय ने आगे कहा कि Tiktok App का उपयोग करने वाले बच्चे के संपर्क में Sex Criminals के संपर्क में आ सकते है ओर ये बेहद ही समस्यात्मक है।

कोर्ट ने बताया Tiktok App को ‘खतरनाक’:-
एक आदेश में, मद्रास उच्च न्यायालय ने Tictok की “अनुचित” सामग्री को App के “खतरनाक पहलू” के रूप में माना है। अदालत ने आगे कहा कि “अजनबियों से सीधे संपर्क करने वाले बच्चों के लिए खतरे की संभावना है”।

App का Devloper कौन है:-
App को Beijing-based Bytedance Technology Company ने बनाया है।

TikTok App को उपयोग कर सकते है:-
ये Aap Users को विशेष प्रभावों के साथ Small Videos बनाने और Share करने के लिए अच्छा प्लेटफॉर्म है।

अदालत के आदेश को लागू करना कठिन हो सकता है:-
हालांकि, यह आदेश। Ministry Of Electronics And Information Technology (MeitY) के Officials के अनुसार लागू करना बहुत कठिन है। एक Senior Government Officer, जिसका नाम लेने से मना किया है, उन्होंने कथित तौर पर Economic Times को बताया कि यह आदेश अविश्वसनीय है।

अदालत का आदेश एक जनहित याचिका के जवाब में आया, जिसमें उसने यह दावा करते हुए App पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी कि यह “परेशान करने वाली सामग्री और संस्कृति को ख़राब करता है”।
App इंडोनेसिया और बांग्लादेश जैसे देशों में पहले से ही प्रतिबंधित है।
पिछले महीने के अंत में TikTok ने भारत में अपने ‘Safety Centre’ का Localised Version Launch किया गया था।

हाल ही में, TikTok ने भारत में अपने Safety Centre’ का Localised Version Launch किया है। इसमें 10 भारतीय भाषाओं में Safety Policies, Tools And Resources i। इनमें हिंदी, तेलुगु, तमिल, गुजराती, मलयालम और पंजाबी शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here