Shushma Swaraj के बारे में जानिए ये खास बातें।

0
197

तो आ गए आप , कैसे हो?

 

images - 2019-08-07T181216.060.jpeg

हेलो  दोस्तों , मुझे बहुत दुःख के साथ आप लोगो को ये बताना पड़ रहा है कि भारत की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज जी आप हमारे बीच नहीं रही। शायद इस बात की ख़बर उन्हें पहले ही थी। इसीलिए इस बार उन्होंने चुनाव में अपना नाम नहीं दिया | दोस्तों जब भी हम  नाम सुनते है सुष्मा स्वराज तो हमारे दिमाग़ एक ऐसी निडर , बहादुर और दबंग महिला की छवि आती है , जो हर मुश्किल और परेशानी के बावजूद चेहरे पर मुस्कान और तेज लिए घूमती थीं। और सबसे इत्तेफ़ाक़ वाली बात यह है दोस्तों की दिल्ली की दो सबसे सशक्त महिला मुख्या मंत्री श्री शीला दीक्षित और श्रीमती सुष्मा स्वराज का निधन चंद हफ्तों के अंतराल में हुआ है। इन दोनों ने ही भारतीय राजनीति की दशा और दिशा को बदलकर रख दिया था। भारत के लिए यह एक बहुत बड़ा नुकसान है क्योकि ऐसे बहुत कम राजनेता है भारतीय राजनीति में जो निडर होने के साथ दयालु भी हो। दोस्तों मुझे जो सबसे अच्छी बात लगती है उनकी वो है Modern technology जैसे Twitter का इस्तेमाल जनता की मदद के लिए करना। भारत में तो यह लगभग एक Trend बन गया था की जिसे भी सरकार से कोई मदद चाहिए सुष्मा जी को tweet कर दो।

सुष्मा स्वराज का निधन 67 वर्ष की आयु में दिल के दौरे की वजह दिल्ली के AIIMS Hospital में मंगलवार की रात को हो गया। इस ख़बर  से पूरे भारत में एक दुःख की लहर दौड़ गई। अपनी मौत से लगभग कुछ घंटे पहले ही स्वराज ने मोदीजी को Tweet करके कहा ” की मेरी ज़िन्दगी में यह दिन लाने के किये शुक्रिया ” सुष्मा स्वराज उन चंद नेताओ में से जो धारा 370 को हटाने पर 1996 से  जोर दे रही थी। उनकी मृत्यु पर खेद करते हुए सभी नेताओ और कलाकारों में उनके साथ बिताए पलों को Twetter पर Share किया। सिर्फ देश ही नहीं दूसरे मुल्को ने यहाँ तक की पाकिस्तान के लोगो ने भी उनके निधन पर दुःख जताया है। स्वराज ऐसी पहली विदेश मंत्री थी जिन्होंने पाकिस्तान के लिए Medical Visa की Facility provide की थी। कई पाकिस्तानियो ने उनका शुक्रिया किया है।
सच में दोस्तों बहुत कम ऐसे लोग होते है जो साहसी से साथ दयालु भी हो। जो सच में अपनी ज़िन्दगी देश के नाम कर दे और सुष्मा जी उन चंद बचे हुए हीरों में से एक थी। वो एक फूल भी थी , और चिंगारी भी।

Leave a Reply