भारत ने फिर से दिया Pakistan को मुह तोड़ जवाब

0
107
तो गए आप, कैसे हो?
images - 2019-08-21T230505.408.jpeg

दोस्तों मैं आपका टेक्निकल दोस्त एक बार फिर आया हूँ कुछ मज़ेदार बताने और आज की खबर तो सच में बड़ी मज़ेदार है। दोस्तों यह तो सब जानते है की हम भारतीयों को दिल कितना नर्म होता है। कभी किसी से फालतू में पंगा नहीं लेते है और कोई हमसे ले तो भईया उसे गंजा कर देते है।🤣 ऐसी ही हालत कुछ अब भारत करने वाला है पाकिस्तान की। हम लोगो ने हर लड़ाई और हमले के बाद भी कभी खुद को नीचे नहीं गिरने दिया।  हर बार पाकिस्तान को यही सोच कर छोड़ते आये है की कभी तो सुधरेगे यह नालायक भी।😜 आखिर हममें से ही निकला है। पर कहते है न लातो के भूत बातो से नहीं मानते तो भईया  इस बार हमने भी चप्पल उठा ही ली है।😁 अब न बचता पाकिस्तान हमसे।

जैसा की आप लोग जानते है की चाहे पाकिस्तान और हिंदुस्तान के बीच कितने भी झगड़े क्यों न हो। हम फिर भी आपस में समानो और कुछ नदियों को आपस में बाटते आये है। और इन्ही कुछ ज़रुरी चीज़ों में है पानी। कहते है न की आप क्या पानी भी नहीं पीने दोगे। तो भारत ने इस बार सोच ही लिया है की हम कश्मीर तो दूर पानी भी नहीं देंगे अपना। 1960 में हुई सिंधु जल संधि के तहत भारत और पाकिस्तान कुछ नदिया जैसे चेनाब और झेलम का पानी पाकिस्तान के साथ बाटता है। वैसे तो यह नदियाँ मुख्यतः भारत की है पर भारत ने कभी भी इस ने पानी का प्रयोग नहीं किया। हमेशा जरूरत से ज़्यादा पानी पाकिस्तान को देता रहा है। लेकिन पाकिस्तान रहा एहसान फ़राहमोश , बाकि हर चीज़ की तरह यह भी उपयोग करता रहा बिना किसी एहसान केे। तो अब भारत ने भी तय कर लिया है की हम अतिरिक्त जल पाकिस्तान को नहीं दे। संसाधन मंत्री गजेंदर सिंह शेखावत ने कहा है की इन नदियों के पानी को रोक कर भारत अपने काम में लाएगा  अब भारत पाकिस्तान पर कोई मेहबानी नहीं करेगा। यह फैसला सरकार ने पुलवामा हमले और धारा 370 पर पाकिस्तान की तीख़ी प्रतिक्रिया को देख कर लिया गया है। और किसी ने क्या खूब कहा है दोस्तों की ,

” हम उन्हें अपना बनाये कैसे , जब वो हमे अपना मानते नहीं। “

इसीलिए अब भारत दोस्ती का हाथ बढ़ाने की पहल नहीं करेगा। अब जो दुश्मन मानते है उन्हें दोस्त कब तक माना जाए। दुश्मन तो दुश्मन है उसे चाय – पानी क्यूँ पूछा जाये।

Leave a Reply