P Chidambaram जायेगे Jail, ये है वजह

0
102

तो आ गए आप,  कैसे हो?

images - 2019-08-21T185700.858.jpeg

 

दोस्तों मैं आज आपके सामने देश का एक बहुत ही बड़ा घोटाला बताने वाला हूँ। वैसे यह कोई नई बात तो नहीं की किसी मंत्री या उसके रिश्तेदारों ने देश को लूटने की कोशिश की हो , पर फिर भी जब कभी किसी घोटाले या  गमन में किसी बड़े नेता का नाम आता है तो हम एक बार फिर अपनी सरकार और प्रशाशनिक व्यवस्था को शक की नज़रो से देखने पर मजबूर हो जाते है। मतलब यार ऐसे ही है हम।🤣 वैसे कितनी ही अजीब बात है की जिन लोगो को हम वोट देकर अपना प्रतिनिधि चुनते है। वो ही मौका मिलने पर हमारी आँखों में धूल तो छोड़ो भैया ईट, रोड़ी, बदरपुर सब झोंक देते है। किसी ने ना बड़ी ही सही बात कही है “न बाप बड़ा न भईया , सबसे बड़ा रुपइया ” , जो लोग अपनी जेबे भरने के लिए हम सब के भविष्य के साथ खेल जाते है वो क्या ख़ाक हमारे लिए कुछ करेंगे | दोस्तों, मैं बात कर रहा हूँ , हमारे पूर्व वित्त मंत्री पी. चितम्बरम की जिनके पीछे कुछ दिनों से CBI और ED हाथ धो कर नहीं, बल्कि शरीर धो कर और पूरी तरह नाह धो कर पड़ गई है।😂 इन्हे तुरंत गिरफ़्तार करने के orders है और इनकी bail की अर्ज़ी भी Delhi High Court ने इन्हे मुख्य आरोपी बताते हुए खारिज कर दी है। और अब यह किसी मंझे हुए चोर की तरह अपने घर से लापता है। इतना ही नहीं इनकी इस करतूत के बाद  भी  Congress सरकार इनके साथ कंधे से कंधा मिलाये खड़ी है।
CBI और ED यानि Enforcement  Directorate ने 15 May 2017 में FIPB यानि Foreign Investment Promotion Board के खिलाफ गैर कानूनी तरीके से INX Media में Money Transfer का केस दर्ज़ किया | CBI के अनुसार एक कंपनी जिसका नाम है INX Media ने आपराधिक तरीके से 4. 62 Cr की जगह 305 Cr की Investment विदेशी Companies से लिया है। यही नहीं सरकार के मना करने के बावजूद भारतीय कंपनियों से भी 10 Cr का काला धन अपनी कंपनी में लगाया। इन भारतीय कापियों में एक कंपनी इंद्रानी एवं पीटर की भी है जो पहले से ही जेल में बंद अपनी बेटी के क़त्ल की सजा काट रहे है। अरे वाह Sir आप तो बहौत बड़े वाले निकले।🤣 अपने आप को बचाने के लिए INX ने पी. चितम्बरम के बेटे कांति चिताम्बरम को नियुक्त किया जिन्होंने बड़ी ही आसानी से सभी सरकारी अफसर की जेबे गर्म करके  बाप के सत्ता में होने का फायदा उठाते हुए मामले को दबा दिया और मदद करने के लिए अपने किसी विदेशी खाते में 1 मिलियन डॉलर Transfer करने के लिए कहा जिससे उन्होंने विदेशो में कई सम्पतियाँ खरीदी। इंद्रानी एवं पीटर में खुद क़ुबूल किया है की पी. चितम्बरम ने उन्हें अपने बेटे की मदद करने के लिए कहा था। जिसके बदले में  उनके बेटे ने किसी विदेशी खाते में पैसे जमा करने को कहा। इस करोड़ो के घोटाले में पी. चितम्बरम  एक मुख्या आरोपी है जिन्हे तुरंत जेल में डालने का आदेश है।
इस सारे मामले से एक बात तो समझ में आ गई दोस्तों की पैसा अच्छे लोगो की नियत ख़राब कर सकता है चाहे जो कोई गरीब भिखारी या मंत्री की कुर्सी पर बैठा नेता। ओर जब अच्छे की कर सकता है तो सोचो इनकी तो कर ही देगा।😜कीमत सबकी होती है बिकाऊ सभी है , बस एक सही कीमत और खरीदार की ज़रुरत है।
तो बोलो जय माता दी।😁

Leave a Reply