जानिए क्यों मानते है इंजीनियर दिवस

0
109
तो आ गए आप, कैसे हो?
images - 2019-09-15T221617.655.jpeg

दोस्तों सबसे पहले तो मेरे सभी इंजीनियर भाइयो को इंजीनियर दिवस की हार्दिक बधाई।  दोस्तों भारत में दो ऐसे प्रोफेशन है जो दबा कर चलते है एक है डॉक्टर तो दूसरा इंजीनियर। अक्सर बच्चो को बचपन से इन्ही दो को बनने का सपना दिखाया जाता है। और कभी – कभी तो उन्हें जन्म से पहले ही उनके करियर decide हो जाता है। की मेरा चिंटू बनेगा डॉक्टर और मोनू इंजीनियर। और यह पूछने की जहमत कौन करे की चिंटू और मोनू क्या चाहते है। एक प्रॉफ़ेशन ज़िंदगी देता है और दूसरा उसे आसान बनता है ? दोस्तों क्या कभी आप अपनी लाइफ इन नयी टेक्नोलॉजी के बिना सोच भी सकते  है क्या ? नहीं ना , तो एक बार ज़रा दिल से शुक्रिया करे इन सभी इंजीनियर का जिनकी मेहनत ने हमारी ज़िन्दगी को ीनता खूबसूरत बनाया है। पर हमारे देश का दुर्भागय यह है की आज जहा हमारे यहाँ सबसे ज़्यादा इंजीनियर है वही बेरोजगारी की लाइन में सबसे पहले वही खड़े नज़र आते है। इसका बस एक ही कारण है की हम हो करते नहीं जो करना चाहते है।  इसी बात पर एक मस्त चुटकुला याद आया।

“कैरियर को लेकर एक बात दिमाग मे आयी कि ….. ‘डॉक्टरी’ की पढाई के बाद लोग “डॉक्टर’ ही बनते हैं…लेकिन…….
.‘इंजीनियरिंग’ की पढाई के बाद आप ‘चपरासी’ से लेकर ‘मुख्यमंत्री’ तक कुछ भी बन सकते हैं…. और हाँ …..’लक’ साथ रहा तो ‘इंजीनियर’….भी।
😉………………….
कहने का मतलब है …”इंजीनियरिंग” में बहुत ज्यादा “स्कोप” है..!!”😁😁😂

भारत में इंजीनियर दिवस 15 सितम्बर को भारत के महान इंजीनियर भारत रतन  मोक्षगुन्दम विश्वेश्वराय को श्रद्वांजलि देने के लिए मनाया जाता है। इन्हे सर MV के नाम से भी जाना जाता है इनका जन्म कर्नाटक में 1861 में हुआ था। इन्हे Father of Modern Mysore भी कहा जाता है। इनके बारे में पांच अनसुने facts हम बताते है।
1 1912 – 1918 तक MV मैसूर के दीवान रहे , वो वहाँ के चीफ इंजीनियर भी थे जिन्होंने कृष्णा सागर बांध बना कर , खेती , Industry , सिचाई और education में एक नयी क्रांति की शुरआत की।

2 इन्होने पहली BA की डिग्री मद्रास से और फिर इंजीनियरिंग की डिग्री पुणे से ली।

3 1903 में automatic Water Floodgate डिज़ाइन और Patent किया , जिसे पुणे में इनस्टॉल किया गया।

4 ये भारत में Economic Planning लाने वाले कुछ चंद महान लोगो में से एक थे।

5 University Visvesvaraya College of Engineering , बैंग्लोर में इन्ही के द्वारा बनाया गया है।

HAPPY ENGINEER’S DAY DOSTO

तो बोलो जय माता दी।😉

Leave a Reply